Premchand kahaniya Archive

नाग-पूजा- प्रेमचंद की कहानियाँ

प्रात:काल था। आषढ़ का पहला दौंगड़ा निकल गया था। कीट-पतंग चारों तरफ रेंगते दिखायी

शंखनाद- प्रेमचंद की कहानियाँ

भानु चौधरी अपने गॉँव के मुखिया थे। गॉँव में उनका बड़ा मान था। दारोगा

पंच परमेश्वर- प्रेमचंद की कहानियाँ

     जुम्मन शेख अलगू चौधरी में गाढ़ी मित्रता थी। साझे में खेती होती थी।

बड़े घर की बेटी- प्रेमचंद की कहानियाँ

बेनीमाधव सिंह गौरीपुर गॉँव के जमींदार और नम्बरदार थे। उनके पितामह किसी समय बड़े

दुर्गा का मंदिर- प्रेमचंद की कहानियाँ

बाबू ब्रजनाथ कानून पढ़ने में मग्न थे, और उनके दोनों बच्चे लड़ाई करने में।

आत्माराम- प्रेमचंद की कहानियाँ

 वेदों-ग्राम में महादेव सोनार एक सुविख्यात आदमी था। वह अपने सायबान में प्रात: से